Photogallery
 
Priests in The Diocese
सर्व धर्म सद्भाव समिति - झाँसी

सर्वधर्म सद्भाव समिति का 1994 में बिषप हाउस 64 कैंट झाँसी में बिषप फ्रेडेरिक डिसुजा के मर्गदर्षन मे़ं हुआ. इसका मुक्य उद्देष्य संपूर्ण बुंदेलखण्ड में सभी धर्म के लोगों के बीच “शांति एवं सद्भाव“ बनाये सखना है. इसलिये इस समिति के संरक्षकगण सभी धर्मों के धर्म गुरु व धर्म आचार्यगण हैं. इस समिति महिने मे एक बार बैटक करती है और कई कार्यक्रम की योजना बनाती है. विभिन्न विद्यालयों में जाना और वहाँ के छात्र-छात्राओं के सभी धर्म में निहित एक भाव एवं एक प्रेममय ईष्वर के महत्व को समझाना है. सभी धर्मों एवं सभी वर्गों के लोगों के प्रति आदर एवं सम्मान की दृश्टि से देखने की भावना करना है. मानवीय मूल्यों के आदार पर बिना किसी प्रकार के भेद-भाव के सभी धर्मों के लोगों के मध्यमानव मूल्य, मैत्री एवं परस्पर सहय¨ग क¨ प्र¨त्साहित कर सद्भाव एवं उन्नत नागरिक मूल्यों क¨ प्रतिश्टित करना है. सभी धर्मों के मूल सिद्धान्त धैर्य, क्षमा, आस्तेय, सत्य अहिंसा, आत्म-संयम, परस्पर प्रेम एवं आत्मिक उन्नती का प्रचार प्रसार करना है जिससे मनुष्यों में चारित्रिक एवं नेतिक विकास एवं परस्पर सहयोग कि भावना प्रबल हो सके.

हम सभी भारतवासी एक दूसरे के साथ पूर्ण सहयोग एवं ”शांति पूर्ण व्यवहार बनाये रखे तभी हमारे देष की उन्नति संभव है. हमारा कार्यक्षेत्र हर परिवार, हर विध्यालय, हर आस्पताल एवम व्यापक समाज है. हम अपने दुःखी भाई - बहनों से मिलने के लिए शहर के विभिन्न अस्पतालों मे मिलने जाते है. उनसे उनके हाल.चाल पूछकर फल आदि का वितरण भी करते है.

हम सब एक साथ मिलकर राश्ट्रीय पर्व जैसे शहीद दिवस तथा विभिन्न धार्मिक पर्व जैसे दीपावली, होली, ईद, एवं क्रिसमस का पर्व भी सभी के साथ मिलकर मनाते हैं. जब कबी कभी कोई हादसा या प्राकृतिक आपदा आति हे तो उनकी सहायता हेतु आगे आते है. हमारी समिति में लगबग 200 सदस्य हैं.

इस समिति के संरक्षकगण: मान्यवर बिषप फ्रेडेरिक डिसुजा झाँसी के धर्माद्यक्ष जी है. तथा हफीज अहमद जि हैं, प्रो.. इकबाल हुसेन इसके अध्यक्ष हैं, श्रीमति सरोजा त्रिपटी भी इसके अध्यक्ष हें, तथा सचीव पद पर डाः फादर सदानंद है.
हर धर्म, एवं हर वर्ग के सामान्य व्यक्ति आकर इस समिति के सदस्य बन सकते हे. यह राजनीति प्रेरित समिति नहीं वरन समाज कल्याण हेतु निस्वार्थ रूप से कार्य करती हे. धन्यवाद.